आपके रसोईघर में आपका गैस अथवा चूल्हा कहाँ होना ?

0
97

मित्रों, आपके रसोईघर के डिजाइन और वहां उपयोग में आने वाले सामान को वास्तु शास्त्र के सिद्धांतों के अनुसार रखने चाहियें ।।


जिससे गृहिणी का स्वास्थ्य अच्छा बना रहे । घर में सकारात्मक उर्जा के प्रवाह निरन्तर बना रहे । इस बात कि सम्पूर्ण जानकारी हेतु वास्तु शास्त्र के इस लेख को पढ़ना बहुत आवश्यक है ।।


आइये आज आपलोगों को इस विषय की सम्पूर्ण जानकारी देने का प्रयास प्रयास करता हूँ । सर्वप्रथम हमें ये जानना होता है, कि घर में रसोईघर कहाँ होना चाहिये ?।।


सामान्यतया वास्तुशास्त्र के सिद्धान्तानुसार रसोई घर के लिए सबसे उपयुक्त स्थान आपके घर का आग्नेय कोण यानि दक्षिण पूर्व की दिशा मानी गयी है ।।


अग्निकोण अर्थात् अग्नि का स्थान ये रसोईघर के लिये सर्वोत्तम माना गया है । अगर कुछ अन्यान्य मतों को देखें तो दक्षिण पूर्व के अलावा कुछ परिस्थितियों में दूसरा उपयुक्त स्थान उत्तर पश्चिम दिशा अर्थात् वायब्य कोण बताया गया है ।।


लेकिन सर्वोत्तम अग्निकोण ही होता है अथवा माना गया है । अब दूसरी बात मुख्य ये है, कि रसोईघर में कौन सा सामान कहाँ रखें ?।।


इस विषय में सबसे पहले कुकिंग स्टोव अर्थात गैस के चूल्हे अथवा कुकिंग रेंज की बारी आती है । गैस अथवा चूल्हा रसोई घर के दक्षिण पूर्वी कोने में ही होना चाहिए ।।


आपका चूल्हा या स्टोव आपके रसोईघर में इस प्रकार रखा जाना चाहिए जिससे की खाना बनाने वाले व्यक्ति (गृहिणी) का मुंह खाना बनाते समय पूर्व दिशा की ओर रहे ।। 

 
वास्तु विजिटिंग के लिये तथा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें ।।


किसी भी तरह के पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं ।।


संपर्क करें:- बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा ।।

 
WhatsAap & Call:   +91 – 8690 522 111.
 
E-Mail :: astroclassess@gmail.com
 
 
  ।।। नारायण नारायण ।।।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here