राहु मस्त, ज्योतिषी जी पस्त ।। Mast Grah Rahu

0
17
Mast Grah Rahu
Mast Grah Rahu

राहु मस्त, ज्योतिषी जी पस्त ।। Mast Grah Rahu.

मित्रों, राहु के फल को समझने में बड़े-बड़े ज्योतिषी चककर खा जाते है । क्योंकि राहू घटनाओं को अचानक घटित कराने में माहिर ग्रह माना जाता है। जैसे एक्सीडेंट, हार्ट अटैक, लाटरी सट्टे में लाभ-हानि, बिल्डिंग, पुल, मकान का अचानक ध्वस्त हो जाना। अचानक बहुत बड़ा नुकसान हो जाना, बड़ा लाभ हो जाना।।

अचानक घबराहट होना, फिर ठीक हो जाना, डर, आकृतिया दिखाई देना (भुत प्रेत) राजनीतिक पद प्राप्ति, राजनीतिक पतन, उतार चढ़ाव, अचानक प्रमोशन, पद प्राप्ति, नौकरी से इस्तीफा, कन्फ्यूजन पैदा होना, डॉक्टर को दवाई देने में कन्फ्यूजन हो जाय,  दवाई का अचानक रिएक्शन हो जाना आदि-आदि।।

इतना ही नहीं अपितु इस तरह की ओर भी बहुत सी घटाए जो अचानक जीवन की दिशा को परिवर्तित कर देती है। राहु के दायरे में ही आती है। राहु को ज्योतिष में छाया ग्रह माना जाता है। राहु जहां जिस भाव में बैठता है उस भाव से सम्बंधित फल ही प्रदान करता है। जिस ग्रह की राशियों में बैठता है उस राशि स्वामी के स्वभावानुसार फल देता है।।

जो ग्रह राहू को देखता उन ग्रहों के स्वभावानुसार भी राहू फल देता है। जिन ग्रहों के साथ राहु बैठा हो उन सभी ग्रहों के स्वभावानुसार भी राहू फल देता है। राहु की स्थिती को समझने के लिए अपने दिमाग को तेज दौड़ते घोड़े से भी तेज दौड़ाना पड़ेगा। तब जाकर कुछ हद तक राहु का स्वभाव समझ में आता है।।

Mast Grah Rahu

राहु में इतनी विचित्रता होने के बाद भी राहु जन्म पत्रिका में अपने दायरे से बाहर जाकर फल नही देता। ज्योतिष के जो सिद्धान्त अन्य सभी ग्रहों पर लागू होते है, राहु भी उसी के अनुसार फल देता है। जैसे मानलिया कि राहु 2, 7, 11 भावो का फल अपनी दशा भुक्ति में दे रहा है तो विवाह एवं वैवाहिक उत्सव आदि कराएगा ।।

6, 10, 11 भावों का फल बता देवे तो उच्च-पद, प्रतिष्ठा, नौकरी, कम्पीटीशन, आई, सी, एस, पी, सी, एस. आदि कोई भी कम्पीटीशन क्लीयर करवा देता है। यदि 3, 9, 12वें भावों का फल देवे तो विदेश यात्रा का योग, 2, 5, 11वें भाव का फल दे तो सन्तान प्राप्ति, 1, 2, 6, 8वें का फल दे तो व्यक्ति को डिप्रेशन देता है।।

1, 2, 6, 8, 12वें भाव का फल दे तो बड़ी बीमारी, हॉस्पिटल, ऑपरेशन आदि शारीरिक कष्ट देता है। 5, 8, 12वें भाव का फल दे तो कोई स्केंडल खड़ा कर देगा। परन्तु एक बात तो साफ़ है, कि ग्रह कोई भी हो अच्छा या बुरा अपने प्राकृतिक स्वभाव के अनुसार ही फल देता है।।

अपनी जन्म कुंडली पर विस्तृत विश्लेषण अथवा परामर्श के लिए संपर्क करें।।
संपर्क सूत्र:- 86905 22111.

ज्योतिष के सभी पहलू पर विस्तृत समझाकर बताया गया बहुत सा हमारा विडियो हमारे YouTube के चैनल पर देखें । इस लिंक पर क्लिक करके हमारे सभी विडियोज को देख सकते हैं – Watch YouTube Video’s.

इस तरह की अन्य बहुत सारी जानकारियों, ज्योतिष के बहुत से लेख, टिप्स & ट्रिक्स पढने के लिये हमारे ब्लॉग एवं वेबसाइट पर जायें तथा हमारे फेसबुक पेज को अवश्य लाइक करें, प्लीज – My facebook Page.

वास्तु विजिटिंग के लिये तथा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें ।।

किसी भी तरह के पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं ।।

संपर्क करें:- वापी ऑफिस नं.- 347, गिरनार खुशबु प्लाजा, तीसरा माला, विशाल मेगा मार्ट के पास, VIA रोड. GIDC वापी.
सिलवासा ऑफिस – बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में मेन रोड़, मंदिर फलिया, आमली, सिलवासा.

WhatsAap & Call: +91 – 8690 522 111.
E-Mail :: balajijyotish11@gmail.com

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here