शनि-दोष निवारण का अचूक उपाय।।

0
978
Shani Dosh Nivaran
Shani Dosh Nivaran

शनि-दोष निवारण का अचूक वैदिक उपाय।। Shani Dosh Nivaran.

हैल्लो फ्रेण्ड्सzzz,

मित्रों, आपकी कुण्डली में गोचर में शनि के अशुभ तथा कुंडली में पहले, चौथे, पांचवें एवं छठे भाव में स्थित होने की अवस्था में आर्थिक हानि, कानूनी समस्या, गठिया रोग एवं पलकों के झड़ने जैसी समस्यायें खड़ी करता है ।।

उपरोक्त घरों में बैठकर शनि आपकी कन्या के विवाह में विलंब, आग लगने, मकान गिरने तथा नौकरों के काम छोड़कर जाने जैसी घटनाओं का कारक बन जाता है ।।

मित्रों, ऐसे में कैसे करें ऐसे शनि के दोष का निवारण ? आज मैं इसके लिये कुछ वैदिक एवं अचूक उपाय बताता हूँ । मुख्यतः शनिदेव को शांत करने के लिए दान और पूजन का विधान सर्वश्रेष्ठ होता है ।।

शनि की अनिष्टता निवारण के लिए शनिवार को शनिदेव के मंदिर में तेल चढ़ाएं एवं दान करें । इसके अलावा काले तिल, काली उड़द, लोहा, काले वस्त्र, काली कंबल, छाता, चमड़े के जूते एवं काली वस्तुएं आदि का दान करें ।।

शनिदेव के मंदिर के बाहर पुराने जूते और वस्त्रों का त्याग करने से भी फायदा होता है । इसके अलावा शनिदेव का व्रत रखने से भी शनिदेव प्रसन्न हो जाते हैं ।।

शनि की अनिष्टता निवारण के लिए शनिवार को एकाशना करनी चाहिए । अगर व्रत न कर सकें तो कम से कम मांसाहार एवं मदिरापान नहीं करना चाहिए और संयमपूर्वक भगवद स्मरण करना चाहिए ।।

शनि मुद्रिका धारण करने से भी लाभ मिलता है । परन्तु ज्योतिष विशेषज्ञ की सलाह अनुसार ही रत्न अथवा काले घोड़े के खुर की नाल की अभिमंत्रित अंगूठी मध्यमा अंगुली में धारण करनी चाहिए ।।

शनि दोष निवारण के लिए शनिदेव का रत्न नीलम धारण करना चाहिए । लेकिन यह केवल तुला, वृषभ, मकर, कुंभ राशि या लग्न के व्यक्तियों को ही धारण करना चाहिए ।।

शनिदोष के निवारण हेतु शुभ मुहूर्त में अनुष्ठान से अभिमंत्रित किया हुआ शनि यंत्र धारण करने से भी शनि द्वारा प्रदत्त पीड़ा शांत हो जाती है ।।

ज्योतिष के सभी पहलू पर विस्तृत समझाकर बताया गया बहुत सा हमारा विडियो हमारे  YouTube के चैनल पर देखें । इस लिंक पर क्लिक करके हमारे सभी विडियोज को देख सकते हैं – Click & Watch My YouTube Channel.

इस तरह की अन्य बहुत सारी जानकारियों, ज्योतिष के बहुत से लेख, टिप्स & ट्रिक्स पढने के लिये हमारे ब्लॉग एवं वेबसाइट पर जायें तथा हमारे फेसबुक पेज को अवश्य लाइक करें, प्लीज – My facebook Page.

वास्तु विजिटिंग के लिये तथा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें ।।

किसी भी तरह के पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं ।।

संपर्क करें:- बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा ।।

WhatsAap & Call: +91 – 8690 522 111.
E-Mail :: balajijyotish11@gmail.com

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here