वास्तु उपाय-बच्चों की पढ़ाई?

0
588
study room Vastu
study room Vastu

बच्चों का पढ़ाई में मन नहीं लगता तो करें यह वास्तु उपाय।। study room Vastu.

हैल्लो फ्रेण्ड्सzzz,

मित्रों, संसार के सभी मां-बाप चाहते हैं, कि हमारा बच्चा पढ़ लिख कर कोई बहुत बड़ा आदमी बने । परन्तु किसी का यह सपना सच होता है और किसी का नहीं हो पाता । इसका कारण है बच्चों का पढ़ाई में मन न लगना । क्योंकि दुनियाँ की बहुत सारी गंदगी सेटेलाइट के माध्यम से जो हमारे देश में आ रही है उसने हमारे देश के इन मासूम नवांकुरों की बुद्धि को जकड़ लिया है ।।

उसी का यह परिणाम है, लेकिन अगर हम अपने घर के माहौल में थोड़ा सा बदलाव कर दें और बच्चे जहां बैठकर पढ़ते हैं “स्टडी रूम” को अगर थोड़ा सा डिफरेंट तरीके से सजा दे तो शायद जिन बच्चों का मन इधर उधर भटक रहा है जरूर उनके ऊपर असर पड़ेगा और वह पढ़ने में रूचि दिखाने लगेंगे ।।

मित्रों, अगर एक बार पढ़ाई में बच्चों की रुचि अगर जग गई तो फिर निश्चित रूप से हर माता-पिता का यह सपना अवश्य ही सच हो जाएगा । आज हम ऐसी ही बातें आप लोगों को बताने वाले हैं । जिससे आपके बच्चे निश्चित रूप से पढ़ने में मन लगाएंगे और आपके स्वप्न को साकार करेंगे । उसके लिये सबसे पहले जरुरी है बच्चों की एकाग्रता बढ़ाने के लिए उनके स्टडी रुम को ठीक रखें ।।

अगर आपके बच्चे का पढ़ाई में मन नहीं लगता तो इसका कारण उसके कमरे का वास्तु दोष हो सकता है । अक्सर गलत दिशा में पढ़ाई की टेबल रखने से भी विद्यार्थी एकाग्रता के साथ पढ़ाई नहीं कर पाते हैं ।।

या अगर गलत वास्तु में पढ़ाई करते भी हैं तो उन्हें मेहनत के अनुसार परिणाम नहीं मिल पाता है । इसलिए बच्चों के कमरे के वास्तु और उसकी सजावट पर विशेष ध्यान देना चाहिए । सबसे पहले ये जान लें, कि उत्तर और पूर्व दिशा ज्ञान प्राप्त करने के लिए शुभ माना जाता है । इसलिए घर में पढ़ाई के लिए इन दिशाओं में स्थित कमरे का ही इस्तेमाल करना चाहिए ।।

दूसरी जरुरी बात, उस रूम के दीवारों पर हल्का गुलाबी, सफेद, हल्का पीला या क्रीम जैसे हल्के रंग अधिक उपयुक्त होते हैं । बच्चों के पढ़ाई के टेबल के दक्षिण के कोने पर उसका स्टडी लैंप रखें । स्टडी टेबल को स्टडी रूम के उत्तर-पूर्व में रखें । इस टेबल के उत्तर-पूर्व के कोने पर एक सरस्वती माता की तस्वीर अवश्य रखें ।।

पढ़ाई की टेबल पर एक क्रिस्टल ग्लोब रखना चाहिए और रोज दिन में उसे तीन बार घुमाना चाहिए । इससे विद्यार्थी को सकारात्मक उर्जा मिलती है । इस तरह के थोड़े से बदलाव की वजह से आपके बच्चे की जिंदगी बदल सकती है । फिर बच्चे के माध्यम से आपकी भी जिंदगी बदल सकती है ।।

मित्रों, वास्तु कोई नकारने लायक विषय नहीं है । यह बहुत ही उत्तम विषय है और हमारे पूर्वज ऋषियों का अनुभव है । अगर हम इसको अपनाते हैं, तो जीवन में खुशियाँ ही खुशियाँ प्राप्त होती है ।।

ज्योतिष और वास्तु के सभी पहलू पर विस्तृत समझाकर बताया गया बहुत सा हमारा विडियो हमारे   YouTube के चैनल पर देखें । इस लिंक पर क्लिक करके हमारे सभी विडियोज को देख सकते हैं – Click Here & Watch My YouTube Channel.

ज्योतिष से सम्बन्धित अन्य बहुत सारी जानकारियों, ज्योतिष के बहुत से लेख तथा टिप्स & ट्रिक्स पढने के लिये हमारे ब्लॉग एवं वेबसाइट पर जायें तथा हमारे फेसबुक पेज को अवश्य लाइक करें, प्लीज – My facebook Page.

वास्तु विजिटिंग के लिये तथा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें ।।

किसी भी तरह के पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं ।।

संपर्क करें:- बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा ।।

WhatsAap & Call: +91 – 8690 522 111.
E-Mail :: balajijyotish11@gmail.com

वेबसाईट:   ब्लॉग:   फेसबुक:   ट्विटर:

।।। नारायण नारायण ।।।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here