ऐसे दिन और समय में पैसों का लेनदेन ना करें।।

0
1124
Dhan Ka Len-Den Na Kare
Dhan Ka Len-Den Na Kare

ऐसे दिन और समय में पैसों का लेनदेन ना करें।। Dhan Ka Len-Den Na Kare.

जय श्रीमन्नारायण,

मित्रों, आज के समय में रुपया-पैसा हर व्‍यक्ति के जीवन से जुड़ी कड़वी सच्‍चाई बन चुकी है। जिसके बिना जीवन की कल्‍पना करना भी आज के जमाने में बेईमानी लगती है। आज हर मनुष्‍य दिन-रात जीतोड़ मेहनत करता है रुपये-पैसे कमाने के लिए, ताकि वह अपने परिवार को समाज के बीच खड़ा होने के लिए सक्षम बना सके और खुद को स्‍थापित कर सके।।

परन्तु कई बार किस्‍मत साथ नहीं देती और इंसान मेहनत करने के बावजूद भी पैसा नहीं कमा पाता और अक्‍सर तंगी से जूझता रहता है। किस्‍मत के अलावा इसकी और भी कई वजह हो सकते हैं। जैसे रुपये-पैसे के लेन-देन से जुड़ी अनजाने में की गई कुछ ऐसी गलतियां। कुछ ऐसी गलतियाँ जिनके बारे में हम नहीं जानते। आज हम आपलोगों को कुछ ऐसी ही बातें बताते हैं। जिन्हें अपनाकर आप किसी बड़े नुकशान से बच सकते हैं।।

बुधवार को दिया धन वापस नहीं मिलेगा।। Money given on Wednesday will not be refunded.

कभी किसी को भी भूलकर भी बुधवार को धन न दें। मान्‍यता है कि बुधवार को दिया गया धन वापस लौटकर नहीं आता। बुधवार को गणेशजी की आराधना का दिन है और वह शुभ लाभ के देवता है। इसलिए बुधवार के दिन किसी को कर्ज नहीं देना चाहिए, इससे गणेशजी नाराज होते हैं। ज्‍योतिष में भी बुधवार को नपुंसक वार माना गया है। इस दिन का उधार वापस नहीं लौटता।।

अमावस्‍या के दिन न दें किसी को भी पैसे।। Do not give money to anyone on Amavasya.

अमावस्‍या के दिन कोई आपका कितना ही करीबी या अपना क्‍यों न हो, आपको उसको उधार नहीं देना चाहिए। ऐसा माना जाता है अमावस्‍या के दिन नकारात्‍मक शक्तियां सक्रिय होती हैं, जिनकी नजर आपके धन पर भी पड़ सकती है। इसलिए इस दिन आप किसी को गलती से भी पैसे न दें।।

भद्रा काल में भी लेनदेन न करें।। Do not transact even in Bhadra Kaal.

भद्रा जिस वक्‍त लगी हो उस वक्‍त कोई भी शुभ कार्य करने की मनाही होती है। भद्रा को अशुभ समय माना गया है। यह विवाद और मतभेद पैदा करता है। इस समय धन का लेन-देन करने से पैसा मिलने में समस्याएं आती है और संबंध भी खराब होते हैं।।

रविवार को भी न दें किसी को भी पैसे।। Do not give money to anyone on Sunday.

रविवार का दिन हो और वृद्धि योग भी हो तो किसी को धन उधार ना दें। इस समय में उधार लेना भी नहीं चाहिए। क्योंकि इस समय दिया गया उधार जल्दी नहीं मिलता है और लेने वाले पर कर्ज बढ़ता रहता है। रविवार को सप्ताह का आरंभ होता है और यह दिन ऋणहर्ता भगवान सूर्य नारायण को समर्पित है। इस दिन पैसों का लेन-देन करना अशुभ होता है। उधार चुकाने में बहुत सारी समस्याएं आती हैं।।

गोधूलि काल में भी धन का लेनदेन न करें।। Do not transact money even in the twilight period.

शाम के वक्‍त जब सूर्य डूब रहा हो या यानी गोधूलि बेला में किसी को भी कर्ज ना तो देना चाहिए और न ही किसी से पैसे लेने चाहिए। इससे आप पर कर्जा बढ़ता है और पैसे का प्रवाह बाहर की तरफ होता है। धन ही नहीं शाम के वक्‍त कोई अन्‍य वस्‍तु जैसे दूध, दही, घी, तेल या फिर नमक भी किसी से उधार नहीं लेना चाहिए।।

मंगलवार का दिन भी लेनदेन के लिए सही नहीं होता।। Tuesday is also not a good day for transactions.

मंगलवार को कर्ज लेने से धन की हानि होती है और आर्थिक अभावों से गुजरना पड़ता है। इस दिन लिया गया उधार दिन-प्रतिदिन बढ़ता रहता है लेकिन चुकाया गया कर्ज शुभता लेकर आता है। मंगलवार के अधिष्ठाता स्वामी कार्तिकेय हैं, जिन्हें काफी उग्र एवं क्रूर माना जाता है। इसलिए मंगलवार को कर्ज लेना शास्त्रों में निषेध बताया गया है। इस दिन कर्ज लेने के बजाए पुराना कर्ज हो तो चुकाना चाहिए।।

ज्योतिष के सभी पहलू पर विस्तृत समझाकर बताया गया बहुत सा हमारा विडियो हमारे YouTube के चैनल पर देखें । इस लिंक पर क्लिक करके हमारे सभी विडियोज को देख सकते हैं – Watch YouTube Video’s.

इस तरह की अन्य बहुत सारी जानकारियों, ज्योतिष के बहुत से लेख, टिप्स & ट्रिक्स पढने के लिये हमारे ब्लॉग एवं वेबसाइट पर जायें तथा हमारे फेसबुक पेज को अवश्य लाइक करें, प्लीज – My facebook Page.

वास्तु विजिटिंग के लिये तथा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें।।

किसी भी तरह के पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं।।

सिलवासा ऑफिस:- बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के सामने, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा।।

सिलवासा ऑफिस में प्रतिदिन मिलने का समय:-
10:30 AM to 01:30 PM And 05:30 PM to 08:30 PM.

WhatsAap & Call: +91 – 8690 522 111.
E-Mail :: [email protected] 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here