बृहस्पति के दोषों की शान्ति हेतु रुद्राक्ष।।

0
1103
Guru ki Shanti
Guru ki Shanti

गुरु ग्रह के दोषों की शान्ति हेतु कुछ सरल उपाय एवं रुद्राक्ष से शान्ति।। Guru ki Shanti Hetu Kaun Sa Rudraksh.

हैल्लो फ्रेंड्सzzz,

मित्रों, कई बार कोई शुभ ग्रह भी अपनी दशा-अन्तर्दशा में अशुभ फल देने लगता है। ऐसे में उसकी शांति करवानी आवश्यक हो जाती है। परन्तु आज मैं आपलोगों को ऐसे ग्रहों कि शांति के लिए कुछ शास्त्रीय उपाय बताता हूँ। इनमें से किसी एक को भी करने से अशुभ फलों में कमी आती है और शुभ फलों में वृद्धि होती है।।

सर्वप्रथम ग्रहों के मंत्र होते हैं, उनकी जप संख्या निर्धारित कि हुई होती है। उस संख्या के अनुसार जप करना श्रेयस्कर होता है। दूसरा उनके द्रव्य का दान करना भी कल्याणकारी होता है। मन्त्रों का जप स्वयं करें या किसी विद्वान् एवं कर्मनिष्ठ ब्राह्मण से कराएं। साथ ही मैं आपलोगों को आज गुरु के दान सामग्रियों के विषय में भी बताता हूँ।।

दान सामग्रियों के अलावा उनके रत्न-उपरत्न धारण करना या उसके अभाव में उस सम्बंधित ग्रह के समिधा कि जड़ को विधिवत् स्वयं धारण करें। इससे भी अकल्पनीय शांति होती है। अगर हम गुरु की बात करें तो गुरु के लिए दान अथवा जप का समय संध्याकाल का बताया गया है। और गुरु कि शांति हेतु भगवान शिव का पूजन करना भी श्रेयस्कर होता है।।

जैसे रुद्राभिषेक करवाना, शिव मंदिर में रुद्री का पाठ करना। गुरु के बीज मंत्र का संध्या समय 19,000 जप 40 दिन में करना चाहिए। मंत्र : “ॐ ग्रां ग्रीं ग्रौं स: गुरुवे नम:”। गुरु के लिये दान द्रव्यों में पुखराज, सोना, कांसा, चने की दाल, खांड, घी, पीला कपड़ा, पीला फूल, हल्दी, पुस्तक, घोड़ा एवं पीला फल आदि का दान करना चाहिए।।

मित्रों, गुरु के दोषपूर्ण स्थिति में बृहस्पतिवार का व्रत करना चाहिए। रुद्राभिषेक करना करवाना चाहिए। साथ ही पांच मुखी रुद्राक्ष धारण कर सकते हैं। पाँच मुखी रुद्राक्ष कि बहुत ही महिमा है। अगर आपके उपर गुरु कि दशा चल रही हो और आप आवश्यकता से अधिक परेशानियों का सामना कर रहे हों तो पाँच मुखी रुद्राक्ष धारण करें।।

इस पाँच मुखी रुद्राक्ष के धारण करते ही आपकी सारी समस्याओं का समाधान तत्काल हो जायेगा। आपने सोंचा नहीं होगा इतना लाभ आपको होगा। 20 से 25 रु. में एक दाना पांच मुखी रुद्राक्ष का बाज़ार में मिल जाता है आसानी से। 108 दाने कि माला 500 से 700/- रु. में आसानी से बाजार में मिल जाता है। शिव पूजन एवं मन्त्र जप से उसकी सिद्धि करके धारण करें।।

ज्योतिष के सभी पहलू पर विस्तृत समझाकर बताया गया बहुत सा हमारा विडियो हमारे  YouTube के चैनल पर देखें । इस लिंक पर क्लिक करके हमारे सभी विडियोज को देख सकते हैं – Click Here & Watch My YouTube Channel.

इस तरह की अन्य बहुत सारी जानकारियों, ज्योतिष के बहुत से लेख, टिप्स & ट्रिक्स पढने के लिये हमारे ब्लॉग एवं वेबसाइट पर जायें तथा हमारे फेसबुक पेज को अवश्य लाइक करें, प्लीज – My facebook Page.

वास्तु विजिटिंग के लिये तथा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें ।।

किसी भी तरह के पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं ।।

सिलवासा ऑफिस:- बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा।।

प्रतिदिन सिलवासा में मिलने का समय:

10:30 AM to 01:30 PM And 05: PM 08:30 PM

WhatsAap & Call: +91 – 8690 522 111.
E-Mail :: [email protected] 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here