हस्तरेखा से जानें मासिक धर्म की परेशानी एवं उसका इलाज।।

Hastrekha Se Jane Masik Dharm
Hastrekha Se Jane Masik Dharm

हस्तरेखा से जानें मासिक धर्म की परेशानी एवं उसका सरल इलाज।। Hastrekha Se Jane Masik Dharm ki Pareshani And Upay.

हैल्लो फ्रेण्ड्सzzz,

मित्रों, मासिक धर्म महिलाओं के स्वास्थ्य से जुड़ा विषय होता है। इसमें अनियमितता से महिलाओं के स्वास्थ्य पर विपरीत प्रभाव पड़ता है। इससे उनमें चिड़चिड़ापन, कमर दर्द, अनिद्रा, रक्त की कमी और मानसिक तनाव जैसे समस्याएं होती है। हस्तरेखा विज्ञान में कुछ ऐसी रेखाओं और हाथों की स्थितियों का उल्लेख किया गया है, जिसे देखकर यह समझा जा सकता है।।

की किन महिलाओं को अनयमित मासिक धर्म की परेशानी हो सकती है। दोनों हथेलियों में ऐसी रेखा यानी अनियमित मासिक धर्म की रेखायें स्पष्ट देखी जा सकती है। हस्तरेखा विज्ञान के अनुसार जिन महिलाओं की हथेली कठोर होती है और हथेली में रेखाएं कम होती हैं, साथ ही दोनों हथेलियों में जीवनरेखा सीधी होती हैं, उन्हें भी मासिक धर्म की अनयमितता का सामना करना पड़ता है।।

मित्रों, ऐसी महिलाओं को मासिक धर्म के समय अधिक कष्ट होता है। जैसे जिन महिलाओं की हथेली में मंगल रेखा टूटी होती है और मंगल पर्वत दबा होता है। ऐसी महिलाओं को मासिक धर्म के समय अधिक कष्ट होता है। जिनकी हथेली में जीवनरेखा अधिक कटी फटी होती है। अथवा मंगल क्षेत्र से पतली-पतली रेखायें जीवन रेखा को काटती हों।।

ऐसी महिलाओं को भी इस तरह की समस्या का समाना करना पड़ता है। यदि किसी स्त्री को श्वेत प्रदर, मासिक धर्म में अनियमितता अथवा इसके होने पर कमर दर्द हो तो वह पीपल की जटा को गुरूवार की दोपहर में काट कर छाया में सुखा कर रख लेवें।।

जब जटा अच्छी तरह से सुख जाये तो उसे पीस कर २०० ग्राम दही में १० ग्राम जटा का चूर्ण का नियमित सात दिन तक सेवन करें। साथ ही रात में सोते समय त्रिफला चूर्ण भी सादा जल के साथ ले लेवें। सात दिन में इस समस्या से मुक्ति मिल जाएगी।।

ज्योतिष के सभी पहलू पर विस्तृत समझाकर बताया गया बहुत सा हमारा विडियो हमारे  YouTube के चैनल पर देखें । इस लिंक पर क्लिक करके हमारे सभी विडियोज को देख सकते हैं – Click Here & Watch My YouTube Channel.

इस तरह की अन्य बहुत सारी जानकारियों, ज्योतिष के बहुत से लेख, टिप्स & ट्रिक्स पढने के लिये हमारे ब्लॉग एवं वेबसाइट पर जायें तथा हमारे फेसबुक पेज को अवश्य लाइक करें, प्लीज – My facebook Page.

वास्तु विजिटिंग के लिये तथा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें ।।

किसी भी तरह के पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं ।।

सिलवासा ऑफिस:- बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा।।

प्रतिदिन सिलवासा में मिलने का समय:

10:30 AM to 01:30 PM And 05: PM 08:30 PM

WhatsAap & Call: +91 – 8690 522 111.
E-Mail :: [email protected] 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here