सूर्यदेव को धन एवं प्रतिष्ठा की प्राप्ति के लिए ऐसे खुश करें।।

Surydev Ko Aise Khush Karen
Surydev Ko Aise Khush Karen

सूर्यदेव को धन एवं प्रतिष्ठा की प्राप्ति के लिए ऐसे खुश करें।।Surydev Ko Aise Khush Karen.

मित्रों, वैदिक सनातन धर्म के ग्रन्थों के अनुसार रविवार का दिन भगवान सूर्य का माना गया है। सूर्यवार के दिन हमें भगवान विष्णु की भी पूजा करनी चाहिये। रविवार के दिन भगवान सूर्य की पूजा को अत्यन्त लाभकारी माना गया है। सूर्य देवता की पूजा करने से व्यक्ति के जीवन में मान-सम्मान, यश, वैभव और खुशहाली में वृद्धि होती है।।

रविवार के दिन व्रत रखने के साथ-साथ पूरे परिवार को मंदिर जाना चाहिए। सूर्य उपासना से व्यक्ति तेजस्वी और ओजवान होता है। परंतु रविवार के दिन हमें अपने खान-पान और कार्य-कलापों पर विशेष ध्यान देना चाहिए। वरना जीवन में कष्ट का सामना करना पड़ सकता है। आइये आप सभी को आज हम बताते हैं, रविवार के दिन क्या-क्या खाने और क्या-क्या करने से बचना चाहिए।।

मित्रों, रविवार के दिन लाल साग खाना बहुत ही अशुभ माना गया है। क्योंकि बारहमासी पौधे को वैष्णव धर्म में मृत्यु का प्रतीक माना जाता है। रविवार के दिन तेल और नमक का भी सेवन नहीं करना चाहिए। इस दिन बाल कटाने से भी बचना चाहिये। रविवार को तेल की मालिश भी नहीं करना चाहिए। इसके अलावा रविवार के दिन मांस और मंदिरा से उचित दूरी बना के रखना चाहिए।।

रविवार के दिन लहसुन का सेवन भी नहीं करना चाहिए। वैदिक मान्यताओं में लहसुन को तामसी एवं अशुभ माना गया है। हालांकि लहसुन ब्लड प्रेशर को संतुलित बनाये रखने के लिए बहुत ही कारगर माना जाता है। रविवार के दिन हमें मछली खाने से बचना चाहिए। क्योंकि मछली मांसाहारी भोजन माना जाता है। इससे सूर्य देव के प्रकोप का शिकार होना पड़ सकता हैं।।

रविवार के दिन मसूर के दाल का सेवन बिलकुल ही नहीं करना चाहिये। इसके सेवन से भगवान सूर्य नाराज हो जाते हैं। रविवार के दिन प्याज का भी सेवन नहीं करना चाहिए। इसके सेवन से सूर्यदेव के क्रोध का सामना करना पड़ सकता है। तांबे की धातु से बनी वस्तु खरीदने और बेचने से भी रविवार को बचना चाहिए।।

मित्रों, सूर्यदेव की नाराजगी से आपका बहुत ही बड़ा नुकशान हो सकता है। क्योंकि ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सूर्यदेव धन और प्रतिष्ठा के कारक ग्रह माने जाते हैं। ऐसे में यदि सूर्यदेव नाराज हो गए तो धन की प्राप्ति तो होने से रही। और जो थोड़ी बहुत प्रतिष्ठा भी मुश्किलों से बन पायी है, वो भी चली जाएगी। अतः इन नियमों को मानना न मानना आपके अपने विचारों पर निर्भर करता है।।

ज्योतिष के सभी पहलू पर विस्तृत समझाकर बताया गया बहुत सा हमारा विडियो हमारे  YouTube के चैनल पर देखें । इस लिंक पर क्लिक करके हमारे सभी विडियोज को देख सकते हैं – Click Here & Watch My YouTube Channel.

इस तरह की अन्य बहुत सारी जानकारियों, ज्योतिष के बहुत से लेख, टिप्स & ट्रिक्स पढने के लिये हमारे ब्लॉग एवं वेबसाइट पर जायें तथा हमारे फेसबुक पेज को अवश्य लाइक करें, प्लीज – My facebook Page.

वास्तु विजिटिंग के लिये तथा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें ।।

किसी भी तरह के पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं ।।

सिलवासा ऑफिस:- बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के ठीक सामने, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा।।

प्रतिदिन सिलवासा में मिलने का समय:

10:30 AM to 01:30 PM And 05: PM 08:30 PM

WhatsAap & Call: +91 – 8690 522 111.
E-Mail :: [email protected]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here