कुंवारी कन्या से संबंध बनाने वालों के लिए यमलोक में कैसी सजा?

0
253
Aaj ka Panchang 06 November 2019
Aaj ka Panchang 06 November 2019

कुंवारी कन्या से संबंध बनाने वालों के लिए यमलोक में कैसी सजा? Kuvari Kanya Se Sambhog Ki Saja.

हैल्लो फ्रेण्ड्सzzz,

मित्रों, मृत्यु के बाद कर्मानुसार स्वर्ग या नरक की सजा भोगने के बाद जब वापस मानव का जन्म प्राप्त करता है, तो उसे अपने जीवन के विषय में विचार अवश्य करना चाहिये ।।

इस संसार में मनुष्य को सबसे अधिक पाप की और ले जाना वाला साधन होता है कामवासना । काम पीडि़त मनुष्य में अच्छे बुरे का निर्णय कर पाना कठिन हो जाता है और फिर वो महापाप कर बैठता है ।।

ऎसा कर्म करनेवाला मनुष्य दुनिया में अथवा समाज में निंदित तो होता ही है साथ ही मृत्यु के बाद यमलोक में जाकर ऎसी यातना प्राप्त करता है जिसे सोच कर भी प्राणी की आत्मा कांप जाती है ।।

गरूड़ पुराण में बताया गया है, कि जो स्त्री अपने पति को छोड़कर दूसरे पुरूषों से संबंध रखती है उसे यमलोक में दहकते लोहे का आलिंगन कराया जाता है । पाप की सजा पूरी होने पर ऎसी स्त्री चमगादड़, छिपकली अथवा दोमुंहा सांप के रूप में जन्म लेती है ।।

साथ ही जो पुरूष अपने गोत्र की स्त्री से संबंध बनाता है उसे लकड़बघ्घा अथवा शाही के रूप में जन्म प्राप्त होता है । कुंवारी अथवा अल्पायु की कन्या से संबंध बनाने वाले को नर्क की घोर यातना सहने के बाद अजगर योनी में आकर जन्म लेना पड़ता है ।।

काम भावना से पीड़ित होकर गुरू की पत्नी का मान भंग करने वाला व्यक्ति वर्षों तक नर्क की यातना सहने के बाद गिरगिट की योनी में जन्म लेता है । मित्र के साथ विश्वासघात करके उसके पत्नी से संबंध बनाने वाले को गधा की योनी में जन्म लेना पड़ता है ।।

ज्योतिष के सभी पहलू पर विस्तृत समझाकर बताया गया बहुत सा हमारा विडियो हमारे  YouTube के चैनल पर देखें । इस लिंक पर क्लिक करके हमारे सभी विडियोज को देख सकते हैं – Click Here & Watch My YouTube Channel.

इस तरह की अन्य बहुत सारी जानकारियों, ज्योतिष के बहुत से लेख, टिप्स & ट्रिक्स पढने के लिये हमारे ब्लॉग एवं वेबसाइट पर जायें तथा हमारे फेसबुक पेज को अवश्य लाइक करें, प्लीज – My facebook Page.

वास्तु विजिटिंग के लिये तथा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें ।।

किसी भी तरह के पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं ।।

संपर्क करें:- बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा ।।

WhatsAap & Call: +91 – 8690 522 111.
E-Mail :: astroclassess@gmail.com

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here