अथ ऋण हर श्रीगणेश स्तोत्रम् ।।

0
1308
Rina Hara Ganesha Stotram
Rina Hara Ganesha Stotram

अथ ऋण हर श्रीगणेश स्तोत्रम् ।।

अथ ऋण हर श्रीगणेश स्तोत्रम् ।। Rina Hara Ganesha Stotram.

सिन्दूरवर्णं द्विभुजं गणेशं लम्बोदरं पद्मदले निविष्टम् ।।
ब्रह्मादिदेवैः परिसेव्यमानं सिद्धैर्युतं तं प्रणमामि देवम् ।।१।।

सृष्ट्यादौ ब्रह्मणा सम्यक् पूजितः फलसिद्धये ।।
सदैव पार्वतीपुत्रः ऋणनाशं करोतु मे ।।२।।

त्रिपुरस्यवधात् पूर्वं शम्भुना सम्यगर्चितः ।।
सदैव पार्वतीपुत्रः ऋणनाशं करोतु मे ।।३।।

हिरण्यकशिप्वादीनां वधार्ते विष्णुनार्चितः ।।
सदैव पार्वतीपुत्रः ऋणनाशं करोतु मे ।।४।।

महिषस्य वधे देव्या गणनाथः प्रपूजितः ।।
सदैव पार्वतीपुत्रः ऋणनाशं करोतु मे ।।५।।

तारकस्य वधात् पूर्वं कुमारेण प्रपूजितः ।।
सदैव पार्वतीपुत्रः ऋणनाशं करोतु मे ।।६।।

भास्करेण गणेशो हि पूजितश्च स्वसिद्धये ।।
सदैव पार्वतीपुत्रः ऋणनाशं करोतु मे ।।७।।

शशिना कान्तिवृद्ध्यर्थं पूजितो गणनायकः ।।
सदैव पार्वतीपुत्रः ऋणनाशं करोतु मे ।।८।।

पालनाय च तपसां विश्वामित्रेण पूजितः ।।
सदैव पार्वतीपुत्रः ऋणनाशं करोतु मे ।।९।।

इदं त्वृणहरं स्तोत्रं तीव्रदारिद्र्यनाशनम् ।।
एकवारं पठेन्नित्यं वर्षमेकं समाहितः ।।
दारिद्र्यं दारुणं त्यक्त्वा कुबेरसमतां व्रजेत् ।।१०।।

।। इति ऋणहरं गणेश स्तोत्रम् ।।

अपने बच्चों को इंगलिश स्कूलों की पढ़ाई के उपरांत, वैदिक शिक्षा हेतु ट्यूशन के तौर पर, सप्ताह में तीन दिन, सिर्फ एक घंटा वैदिक धर्म की शिक्षा एवं धर्म संरक्षण हेतु हमारे यहाँ भेजें ।।

ज्योतिष के सभी पहलू पर विस्तृत समझाकर बताया गया बहुत सा हमारा विडियो हमारे  YouTube के चैनल पर देखें । इस लिंक पर क्लिक करके हमारे सभी विडियोज को देख सकते हैं – Click Here & Watch My YouTube Channel.

इस तरह की अन्य बहुत सारी जानकारियों, ज्योतिष के बहुत से लेख, टिप्स & ट्रिक्स पढने के लिये हमारे ब्लॉग एवं वेबसाइट पर जायें तथा हमारे फेसबुक पेज को अवश्य लाइक करें, प्लीज – My facebook Page.

वास्तु विजिटिंग के लिये तथा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें ।।

किसी भी तरह के पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं ।।

वापी ऑफिस:- शॉप नं.- 101/B, गोविन्दा कोम्प्लेक्स, सिलवासा-वापी मेन रोड़, चार रास्ता, वापी।।

वापी में सोमवार से शुक्रवार मिलने का समय: 10:30 AM 03:30 PM

वापी ऑफिस:- शनिवार एवं रविवार बंद है.

सिलवासा ऑफिस:- बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा।।

प्रतिदिन सिलवासा में मिलने का समय: 05: PM 08:30 PM

WhatsAap & Call: +91 – 8690 522 111.
E-Mail :: balajijyotish11@gmail.com 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here